पैग़ंबरे इस्लाम के दुनिया में आने से, लोगों को मिला न्याय – बलियावी

जामताड़ा:-

पालोजोरी प्रखंड क्षेत्र के कोलगी गांव स्थित जलसा ए इमाम उल अंबिया कॉन्फ्रेंस का आयोजन हर्ष उल्लास के साथ किया गया। उक्त मौके पर मेहमान खुसुसी की हैसियत से पूर्व राज्यसभा सांसद व बिहार विधान परिषद सदस्य सह बिहार अल्पसंख्यक कल्याण समिति के चेयरमैन मौलाना गुलाम रसूल बलियावी पहुंचे उन्होंने जलसे में उमडते हुए जनसैलाब को संबोधित करते हुए कहा कि पैगंबरे इस्लाम के दुनिया में आने से लोगों को इंसाफ मिला और बुराइयों का खात्मा हुआ। पैगम्बरे इस्लाम के विलादत की खुशी में जश्न मनाते हुये हमें इस बात का ख्याल रखना चाहिये कि हमारा हर एक अमल ऐसा हो जो अल्लाह और अल्लाह के रसूल को पसंद हो।

उन्होंने कहा कि पैगम्बरे इस्लाम की सीरत को अगर इंसान अपनी जिन्दगी में नमूना-ए-अमल बना लें तो दुनिया में भी इज्जत और आखिरत भी अच्छी होगी। उन्होंने कहा कि नबी करीम ने हमेशा दूसरों की मदद की, जुल्मत का खात्मा किया और पाबंदी से इबादत की तो इसलिए जरूरी है कि हम अपने प्यारे नबी के बताए हुए तरीकों पर चलें और नमाज की पाबंदी करें।

वहीं जमशेदपुर से आए हुए मौलाना अब्दुल हन्नान चतुर्वेदी ने कहा कि नबी करीम को अल्लाह तआला ने तमाम आलम के लिए रहमत बनाकर भेजा वह कयामत तक आने वाले तमाम नस्लों के पैगंबर हैं। जलसे का आगाज़ तिलावते कुरआने पाक ओर नाते नबी पढ़कर किया गया। जलसे की अध्यक्षता मौलाना सनाउल्लाह फैजी एवं संचालन मौलाना फिरोज द्वारा किया गया । मशहूर शायरी इस्लाम हबीबुल्लाह फैजी नदीम रजा आदि कई माननीय गन ने भाग लिया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here